Saturday, January 17, 2015

bhajan /भजन

                            तेरा पल-पल बीता जाये ,मुख से जप लो नमः शिवाय
                                   ओम नमः शिवाय -ओम नमः शिवाय  
१. शिव-शिव तुम ह्रदय से बीजो,मन मंदिर का पर्दा खोलो-२
                           तेरा अवसर खाली  न जाये ,मुख से जप लो नमः शिवाय 
२. ये दुनिया पंक्षी का मेला समझो उड़ जाना है अकेला -२
                           तेरा तन-मन साथ न जाये,मुख  से जप लो नमः शिवाय
३. मुसाफिरी जब पूरी होगी,चलने की मजबूरी होगी -२    
                          पिंजरे प्राण रह जाये ,मुख से जप लो नमः शिवाय
४. शिव पूजन मस्त बने जा भक्ति रस पान किये जा -२ 
                         दर्शन विश्वनाथ के पय ,मुख से जप लो नमः शिवाय

Friday, January 9, 2015

भजन



भजन ---------

                        क्षण भंगुर जीवन की कलिका कल प्रात को जाने खिली न खिली      

१. मलयालम की शुचि -शीतलता - २ 

                          सुगंध समीर खिली न खिली ,,,,,,क्षण भंगुर जीवन की ---

२. काली कल कुठार लिए फिरता -२ 

                         तन मन से चोट झिली न झिली ----क्षण चंगुर जीवन की ---

३. कह ले हरी नाम अरी रसना -२ 

                       फिर अंत समय में हिली न हिली -----क्षण भंगुर जीवन की -------